खुदा से खफ़ा

एक और हार,
बढ़ता इंतज़ार,
झुंझलाते लोग,
आखिर क्यों ना चिल्लाए?
जब शिकायत खुद खुदा से हो-
तो हम किसके पास जाए?  

Comments

Popular posts from this blog

इस पर्युषण पर्व ना भेजे किसी को क्षमापना का व्हाट्सएप, लेकिन इन 4 को जरूर बोले मिलकर क्षमा

एक चोमू था ...

Mirza Ghalib Episode 1 (Doordarshan) Deciphered