स्वागत

पसंद / नापसंद .. दर्ज ज़रूर करें !

Friday, November 16, 2012

ज़िंदा

तुम्हें देखा आज,
एक ज़माने बाद,
.
कुछ देर 
साँसे अटकी, 
फिर, 
दिल धडकने लगा, 
.
मैं ज़िंदा हूँ अबतक ,
ये लगने लगा|| 

~~ऋषभ~~

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...